पुणे में भारी बारिश से बाढ़ की स्थिति

भारी बारिश के कारण पुणे शहर के कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति आ गई है। साथ ही कटराज कनाल की दीवार गिराने से कई लोगों की मौत हो गई। बिगरते हालात को देखकर जिला के कलेक्टर नबल किशोर राम ने पुणे के कई शहर जैसे पुरंदर, बारामती, भोर और हवेली तहसील में स्कूल – कालेजों की छुटट्ी कर दी है।

दीवार गिरने से दो महिलाओं और एक बच्चे समेत 6 लोगों को मौत हो गई। खेड़ शिवपुर के पास 5 लोग एक नाले में गिरने से मौत हो गई। अब तक बारिश के कारण 11 लोगों की मौत हो चुकी है।

हालात को देखते हुए NDRF की तीन टीमें भेजी गई हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पुणे में मानसून काफी तेज हो गए है जिस कारण से कई दिनों लगातार बारिश हो रही है।

इस साल का सितंबर महीना सबसे ज्यादा बारिश वाला है यह जानकारी एक निजी मौसम एजेंसी ने दी है। भारी बारिश के कारण शहर के कई इलाकों में भारी जलभराव हो रहा है और साथ ही बिजली आपूर्ति भी ठप हो गई है। पद्मावती पंपिंग स्टेशन प्रभावित होने के कारण सतारा रोड, कोंढावा, बीववेवाड़ी, सहकारनगर, मार्केंटयार्ड, बालाजीनगर और ढंकावाड़ी में पानी सप्लाई भी बंद रहेगी।

कई जगहों पर पेड़ और पोल गिर पड़े जिससे गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं। लेक टाउन से बीबवेवाड़ी जाने वाला पुल भी टूट गया। हालात को देखते देखते हुए पुणे के जिला कलेक्टर नवल किशोर राम ने पुणे शहर, पुरंदर, बारामती, भोर और हवेली तहसील में स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी कर दी है। वहींए सासवाड़ में भारी बारिश के कारण नजारे बांध से 85000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। बारामती जिले में बाढ़ की आशंका के चलते अलर्ट घोषित कर दिया गया है। नवल किशोर ने बताया है कि 14000 लोगों को बारामती में सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.